इंडिगो एयरलाइंस के स्टेशन मैनेजर रूपेश सिंह हत्याकांड को लेकर शनिवार (16 जनवरी) को डीजीपी एसके सिंघल पटना एसएसपी कार्यालय पहुंचे. उनके साथ तीन एडीजी स्तर के पुलिस अधिकारी भी मौजूद थे. लगभग एक घंटे से अधिक समय तक बैठक करने के बाद डीजीपी ने कहा कि हर एक बिंदु पर जांच चल रही है. पुलिस की कार्रवाई अब तक कहां पहुंची है? उसका विश्लेषण करने के लिए पुलिस के अधिकारियों के साथ बैठक की गयी. बहुत बारीकियों के साथ बात हुई है. मामला अतिसंवेदनशील और बहुत उलझा हुआ है. पुलिस की कई टीमें अलग-अलग काम पर लगी हुई है. इनकी जांच चल रही है.

वही डीजीपी ने कहा कि मुझे पूरा भरोसा है कि हत्या के कारणों का पूरा खुलासा जल्द ही कर लिया जायेगा. डीजीपी के साथ सीआइडी के एडीजी विनय कुमार, एडीजी ऑपरेशन सुशील खोपड़े, एडीजी (लॉ एंड ऑर्डर) अमित कुमार, पटना आइजी संजय कुमार, एसएसपी उपेंद्र कुमार शर्मा सहित सभी एसपी भी आदि मौजूद थे. साथ ही डीजीपी ने यह भी कहा की यह मामला विशुद्ध रूप से कांट्रेक्ट कीलिंग का है. कांट्रैक्ट कीलिंग के कारणों की जांच चल रही है. मुझे पूरा भरोसा है कि बहुत कम समय में इस मामले का खुलासा हो जायेगा.आपको बता दे की रूपेश की पत्नी (rupesh singh wife)नीतू सिंह ने बिलखते हुए कहा कि अब हम किसके सहारे जियेंगे. हत्यारों ने हमारे पति को छिन लिया, हमारे बच्चों को अनाथ बना दिया. हमे इंसाफ चाहिए. अभी तक पुलिस हत्यारो को गिरफ्तार नहीं कर सकी है. वही वह के ग्रामीणों ने कहा कि कातिलों को शीघ्र गिरफ्तार करे व स्पीडी ट्रायल चलाकर उसे सजा दी जाये. अन्यथा केस को सीबीआइ को सौंप दिया जाये.