नई दिल्ली: कोरोना संक्रमण को देखते हुए बंगाल में अब पीएम की रैलियों का स्वरूप बदल दिया गया है. बंगाल में अब पीएम की वर्चुअल रैली होगी. इसके लिए हर विधानसभा क्षेत्र में बड़े बड़े स्क्रीन लगाए जाएंगे.

बिहार की तर्ज पर बंगाल में रैली

कोरोना के बढ़ते संकट को देखते हुए बंगाल में प्रधानमंत्री मोदी की रैलियों के स्वरूप में बदलाव किया जाएगा. बिहार की तर्ज पर प्रधानमंत्री मोदी की 23 अप्रैल को होने वाली बंगाल की रैलियां होगी.

यानी अब रैली में पूरे जिले के लोगों को एक जगह आने की जरूरत नहीं होगी. हर विधानसभा में प्रधानमंत्री के भाषण को सुनने के लिए बड़े बड़े स्क्रीन लगाए जाएंगे.

रैलियों को Virtual दिखाने के लिए योजना

प्रधानमंत्री की रैलियों को Virtual दिखाने के लिए योजना पर काम शुरू हो गया है. अब रैली स्थल पर कम से कम लोग होंगे, जो भी लोग होंगे पूरे social distancing के साथ होंगे.

जैसे मालदा में 23 को प्रधानमंत्री की पहली रैली है तो वहां की सभी 12 विधानसभा में प्रधानमंत्री की रैली को दिखाने के लिए बड़े बड़े स्क्रीन लगाए जाएंगे. 23 तारीख़ को बंगाल में प्रधानमंत्री की 4 रैलियां हैं. मालदा, मुर्शिदाबाद, सिवली और दक्षिण कोलकाता..

कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए कई नेताओं ने अपनी चुनावी रैली को रद्द कर दिया है. हाल ही में राहुल गांधी ने भी ये ऐलान किया था कि कोविड के चलते वो अपनी सभाओं को कैंसिल कर रहे हैं. ऐसे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की वर्चुअल रैली भी कोरोना के खतरे का ही परिणाम है.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, सोमवार को देश में कोविड-19 के एक दिन में रिकॉर्ड 2,73,810 नए मामले सामने आने के साथ ही संक्रमण के कुल मामले 1.50 करोड़ के पार पहुंच गए.