रवींद्र जडेजा (Ravindra Jadeja) एक दशक से लंबे वक्त से टीम इंडिया (Team India) का हिस्सा रहे हैं, लेकिन A+ ग्रेड में जगह बनाने में नाकाम रहे. इस कैटेगरी में बीसीसीआई (BCCI) ने सिर्फ 3 ही खिलाड़ी शामिल किए हैं.

नई दिल्ली: टीम इंडिया (Team India) के ऑलराउंडर रवींद्र जडेजा (Ravindra Jadeja) ने पिछले कुछ वक्त से बेहतरीन प्रदर्शन किया था. ऐसे उम्मीद जताई जा रही थी कि बीसीसीआई की एनुएल कॉन्ट्रैक्ट लिस्ट (BCCI Annual Contract List) में उनका प्रमोशन होगा, लेकिन ऐसा हुआ नहीं.

एक दशक से टीम इंडिया के साथ जडेजा

रवींद्र जडेजा (Ravindra Jadeja) एक दशक से लंबे वक्त से टीम इंडिया (Team India) का हिस्सा रहे हैं, लेकिन A+ ग्रेड में जगह बनाने में नाकाम रहे. इस कैटेगरी में बीसीसीआई (BCCI) ने सिर्फ 3 ही खिलाड़ी शामिल किए हैं जो टेस्ट, वनडे और टी-20 तीनों फॉर्मेट में खेलते हैं.

बीसीसीआई की एनुएल कॉन्ट्रैक्ट लिस्ट (BCCI Annual Contract List) में A+ कैटेगरी उन खिलाड़ियों के लिए होती हैं जो तीनों फॉर्मेट्स खेलते हैं. इस लिस्ट में विराट कोहली (Virat Kohli), रोहित शर्मा (Rohit Sharma)और जसप्रीत बुमराह (Jasprit Bumrah) शामिल हैं जिन्हें सालाना 7 करोड़ सैलरी मिलती है.

A कैटेगरी में जडेजा

रवींद्र जडेजा फिलहाल A कैटेगरी में रखे गए हैं जिन्हें सालाना 5 करोड़ रुपये सैलरी दी जाती है. आईसीसी की वनडे और टेस्ट रैंकिंग में जडेजा टॉप-10 ऑलराउंडर्स की लिस्ट में शामिल हैं. ऐसे में उन्हें A+ लिस्ट में शामिल किया जा सकता था. बीसीसीआई ने हालांकि इस बात की सफाई नहीं दी है कि ऐसा क्यों किया गया.