बिहार के सीवान के पूर्व बाहुबली सांसद मोहम्मद शहाबुद्दीन की कोरोना से मौत की खबर मात्र अफवाह है. एबीपी न्यूज के रिपोर्टर ओपी तिवारी ने अपने सूत्रों के हवाले से बताया है कि सोशल मीडिया पर शहाबुद्दीन की मौत की खबर अफवाह है. शहाबुद्दीन इस वक्त कोरोना संक्रमित हैं और दीनदयाल उपाध्याय अस्पताल उनका इलाज चल रहा है. हालांकि पूर्व सांसद की हालत गंभीर बताई जा रही है.

आज सुबह से ही बाहुबली नेता की कोरोना की वजह से मौत की खबरें आ रही थीं. न्यूज एजेंसी एएनआई ने भी ट्वीट कर पहले इस खबर पुष्टि की थी. फिर उन्होंने अपना ट्वीट डिलीट कर इन खबरों का खंडन कर दिया.

राष्ट्रीय जनता दल के पूर्व नेता शहाबुद्दीन को सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर 2018 में बिहार की सीवान जेल से तिहाड़ जेल लाया गया था. हत्या के मामले में आजीवन कारावास की सजा काट रहे शहाबुद्दीन को पिछले महीने 21 अप्रैल को अस्पताल में भर्ती कराया गया था.

अदालत का शहाबुद्दीन के उपचार पर नजर रखने का निर्देश

दो दिन पहले ही 28 अप्रैल को दिल्ली हाईकोर्ट आप सरकार और जेल अधिकारियों को शहाबुद्दीन की पूरी निगरानी और इलाज मुहैया कराने का निर्देश दिया था. न्यायमूर्ति प्रतिभा एम सिंह ने कहा कि कोविड के मरीजों का उपचार कर रहे ड्यूटी पर मौजूद डॉक्टर शहाबुद्दीन के स्वास्थ्य की स्थिति पर नजर रखेंगे और उनका उपचार करेंगे.

अदालत ने निर्देश दिया था कि हत्या के मामले में उम्रकैद की सजा काट रहे पूर्व राजद सांसद को दिन में दो बार परिजनों से बात करने की अनुमति दी जाए. दिल्ली सरकार के अतिरिक्त स्थायी वकील संतोष के त्रिपाठी ने कहा कि जेल नियमावली के अनुसार जेल के बाहर किसी कैदी के रहने पर परिजनों से फोन पर बात करने की अनुमति नहीं होती है. अदालत ने कहा था, ‘लेकिन वह बीमार हैं.’