वर्ल्ड नंबर-3 जापान की नाओमी ओसाका ने दूसरी बार ऑस्ट्रेलियाई ओपन का खिताब जीत लिया है. शनिवार को फाइनल में ओसाका ने 22वीं सीड अमेरिका की जेनिफर ब्राडी को 6-4, 6-3 से मात दी.

वर्ल्ड नंबर-3 जापान की नाओमी ओसाका ने दूसरी बार ऑस्ट्रेलियाई ओपन का खिताब जीत लिया है. शनिवार को फाइनल में ओसाका ने 22वीं सीड अमेरिका की जेनिफर ब्राडी को 6-4, 6-3 से मात दी. 23 साल की ओसाका का यह चौथा ग्रैंड स्लैम खिताब है. वहीं, ब्राडी पहली बार किसी ग्रैंड स्लैम के फाइनल में पहुंची थीं. ओसाका ने इससे पहले 2019 में ऑस्ट्रेलियाई ओपन का खिताब जीता था. वह 2018 और 2020 में यूएस ओपन का खिताब अपने नाम कर चुकी हैं. यह खिताबी मुकाबला एक घंटे 17 मिनट तक चला.

नाओमी ओसाका ने मैच में महज दो बार डबल-फॉल्ट किए और उन्होंने चार बार ब्राडी की सर्विस ब्रेक की. 25 साल की ब्राडी ने जापानी खिलाड़ी को पहले सेट में अच्छी टक्कर दी. पहले सेट में एक समय स्कोर 4-4 था. इसके बाद ओसाका ने अपनी सर्विस गेम जीतकर स्कोर 5-4 कर दिया. ब्राडी फिर अपनी सर्विस बचा नहीं सकीं और पहला सेट 4-6 से हार गईं.

दूसरे सेट में ओसाका ने ब्राडी की दो बार सर्विस ब्रेक कर स्कोर 4-0 कर दिया. पांचवें गेम में ब्राडी ने ओसाका की सर्विस ब्रेक कर स्कोर 1-4 कर दिया, लेकिन तब तक काफी देर हो चुकी थी.

नाओमी ओसाका ने सेमीफाइनल में अमेरिका की ही 10वीं सीड दिग्गज सेरेना विलियम्स को 6-3, 6-4 से हराया था. वहीं, ब्राडी ने चेक गणराज्य की 25वीं वरीय कारोलिना मुचोवा को 6-4, 3-6, 6-4 से हराया था.

अपनी मजबूत सर्विस से ओसाका ने 6 ऐस जमाकर मेजर फाइनल्स का स्कोर 4-0 किया और मोनिका सेलेस के 30 साल पहले इस तरह से अपना करियर शुरू करने के बाद वह ऐसा करने वाली पहली महिला खिलाड़ी हैं.

ओसाका का जन्म जापान में हुआ. लेकिन जब वह तीन वर्ष की थीं, तब उनका परिवार अमेरिका आ गया था. स्टेडियम में करीब 7,500 दर्शकों को बैठने की अनुमति दी गई, जबकि कोविड-19 लॉकडाउन के कारण 5 दिन तक टूर्नामेंट के शुरू में दर्शकों का प्रवेश बंद कर दिया गया था.