बॉलीवुड सुपरस्टार अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) ने यश चोपड़ा (Yash Chopra) के साथ कई फिल्मों में काम किया. एक वक्त था जब अमिताभ और यश चोपड़ा के बीच बहुत करीबी रिश्ता था, और ये रिश्ता उस वक्त बना था जब वी. शांताराम (V. Shantaram) के राजकमल स्टूडियो के एक छोटे से हिस्से में यश चोपड़ा ने अपना ऑफिस खोला था.

अमिताभ अक्सर वहां जाकर यश चोपड़ा से बातें किया करते थे. धीरे-धीरे दोनों का प्रोफेशनल रिश्ता दोस्ती में बदल गया. वक्त आया जब यश चोपड़ा की तबियत खराब हो गई. अमिताभ ने फोन करके उनका हाल-चाल पूछा और कहा ‘मैं जल्दी ही आपसे मिलने आउंगा’. यश चोपड़ा ने भी कहा-‘ठीक है उस दिन कोई और काम नहीं करेंगे सिर्फ बातें करेंगे.’ अमिताभ बच्चन मिलने का वादा करके अपने कामों में बिज़ी हो गए. उन्हें कई फिल्मों की शूटिंग करनी थी. हालांकि, अमिताभ ने कई बार वक्त निकालने की कोशिश की, लेकिन किसी ना किसी वजह से अमिताभ का यश चोपड़ा से मिलना संभव नहीं हो पा रहा था, फिर एक दिन उन्हें खबर मिली कि यश चोपड़ा नहीं रहे.

अमिताभ बच्चन ने अपने एक इंटरव्यू में इस बात का जिक्र करते हुए कहा था- ‘यश जी को खोकर ऐसा लगता है कि जैसे मेरे दिल का एक हिस्सा टूट गया है’. आपको बता दें कि अमिताभ बच्चन के करियर में यश चोपड़ा का बहुत बड़ा हाथ रहा है. यश चोपड़ा के साथ बिग बी ने ‘दीवार’, ‘सिलसिला’, ‘कभी-कभी’, ‘त्रिशूल’, ‘बंटी और बबली’, ‘काला पत्थर’ जैसी फिल्मों में काम किया था.