उत्तरप्रदेश की राजधानी लखनऊ में भी कृषि कानून को लेकर आंदोलन जारी है , तमाम रुकावटों के बावाजूद अखिलेश लखनऊ से कन्नौज जाने के लिए पैदल ही रवाना होगये।

समाजवादी पार्टी के मुखिया और यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को प्रश्न ने हिरासत में ले लिया है। प्रशासन ने पहले उनको घर के बहार ही बैरिकेडिंग करके रोकने की कोशिश करि थी। अखिलेश यादव तब भी नहीं रुके और वह वही सड़क पर धरने पे बैठ गए। अखिलेश ने प्रशासन पर आरोप लगाया की उनकी गाड़ियां भी ज़ब्त करली गयी। अखिलेश यादव को हिरासत में लिए जाने के बाद ईको गार्डन भेजा जा रहा है, जहां उन्हें कस्टडी में रखा जाएगा।

अखिलेश का कहना है की सरकार के कानून से अगर किसान राज़ी नहीं है तो सरकार को कानून वापस लेलेना चाहिए, किसानों की आवाज को सरकार अनसुना कर रही है। अखिलेश ने ये भी बताया की प्रशासन पूरे प्रदेश में गिरफ्तारियां कर रही है , हमे कन्नौज नहीं जाने दिया जा raha है। यदि प्रश्न चाहे तोह हमे जेल में भी दाल सकती है।

अखिलेश ने इसी मसले पर ट्वीट करते हुए शायराना अंदाज़ में तंज़ कसा है , अखिलेश यादव ने ट्वीट करके लिखा ‘जहां तक जाती नज़र वहां तक लोग तेरे ख़िलाफ़ हैं, ऐ ज़ुल्मी हाकिम तू किस-किस को नज़रबंद करेगा!’। अखिलेश ने ये भी कहा कि सरकार ने किसानों की दोगुनी आय करने का वादा किया था, लेकिन आज किसानों को बर्बाद करने वाला कानून लाया गया है।