बिहार में नए सरकार की गठन होने के बाद NDA की सरकार बिलकुल एक्टिव मोड में नज़र आ रही है.आज सम्पन हुए कैबिनेट मीटिंग के बाद ये फैसला लिया गया की नगर परिषद् को अपग्रेड कर नगर निगम में तब्दील की जाएगी.उनमें सासाराम, बेतिया मोतीहारी, मधुबनी और समस्तीपुर शामिल हैं. अब ये सभी नगर परिषद नगर निगम कहलाएंगे

नितीश कुमार की अगुवाई में ये फैसला लिया गया की 103 नए नगर पंचायत का निर्माण, 8 नए नगर परिषद का निर्माण तथा 32 नगर पंचायत का नगर परिषद में अपग्रेडेशन को मंजूरी दे दी. इसके साथ ही 12 नगर निकायों के विस्तारीकरण तथा 5 नगर परिषद को नगर निगम के रुप में अपग्रेडेशन को भी कैबिनेट ने हरी झंडी दे दी है.

आज संपन्न हुए कैबिनेट मीटिंग में ये भी बताया गया कौन से नए जगह को विस्तार किया जायेगा.इसके अलावा जिन 103 नए नगर पंचायतों के गठन को मंजूरी दी गई है, उनमें पटना जिले की दो पुनपुन और पालीगंज नालंदा जिले की नौ, भोजपुर की एक, बक्सर की दो, कैमूर की तीन, रोहतास की चार, मुजफ्फरपुर की सात, पश्चिम चंपारण की दो, वैशाली की तीन, और मुंगेर व जमुई की एक-एक पंचायत शामिल है. इसके अलावा शेखपुरा की दो, खगड़िया की चार, गया की पांच, औरंगाबाद की दो, नवादा और अरवल की एक-एक, जहानाबाद की दो, पूर्णिया की आठ, कटिहार की पांच, अररिया की तीन, किशनगंज की एक, सिवान की छह, सारण की तीन, दरभंगा की नौ, मधुबनी की एक, समस्तीपुर की दो, भागलपुर और सहरसा की चार पंचायतें शामिल हैं.

बाकि जिन 32 नगर पंचायतों को नगर परिषद् में बदलने की मंजूरी मिली है उसमे राजगीर और नालंदा भी शामिल है.राजगीर नगर पंचायत अब राजगीर नगर परिषद में बदल जाएगी. इसके अलावा भोजपुर का पीरो, रोहतास का नोखा, पूर्वी चंपारण का चकिया और रामनगर नगर पंचायत अब नगर परिषद होंगे. बता दें कि अगले साल राज्य में पंचायत चुनाव होने हैं, जिसके लिए मतदाता सूची बनाने का काम जारी है