टाटा सन्स ने ऑनलाइन ग्रॉसरी सेलर कंपनी बिग बास्केट को खरीद लिया है. कंपनी ने बिग बॉस्केट में 64.3 फीसदी हिस्सेदारी खरीदी है. बिग बॉस्केट में टाटा ने यह खरीदारी टाटा सन्स की ही एक यूनिट टाटा डिजिटल के जरिये की है. शुक्रवार को टाटा ने इस खबर की पुष्टि कर दी. इससे  पहले कंपीटिशन कमीशन ऑफ इंडिया ने मार्च में टाटा और बिग बास्केट के बीच हुई इस डील को मंजूरी दे दी थी.

रिलायंस, अमेजन और फ्लिपकार्ट को टक्कर की तैयारी 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, यह डील 9,500 करोड़ की है. इसके तहत टाटा डिजिटल ने  बिगबॉस्केट में दिग्गज चीनी ऑनलाइन कंपनी अलीबाबा ग्रुप की हिस्सेदारी भी खरीदी है. यह डील ऐसे समय हुई है, जब देश में कोरोना महामारी के दौरान ई-कॉमर्स की बिक्री में जबरदस्त तेजी आई है. रिलायंस रिटेल, अमेजन और फ्लिपकार्ट जैसी कंपनियों से मुकाबले के लिए टाटा को किसी बड़े ऑनलाइन ग्राॉसरी स्टोर के अधिग्रहण की जरूरत थी, जो इसने पूरा कर लिया है. देश में ऑनलाइन ग्राॉसरी मार्केट का साइज तेजी से बढ़ा है. खास कर कोरोना संक्रमण के इस दौर में ऑनलाइन ग्राॉसरी की बिक्री में तेजी आई है.

कंज्यूमर बिजनेस को तेजी से डिजिटाइज कर रहा है टाटा 

टाटा समूह ने बड़े पैमाने पर ई-कॉमर्स मार्केट में उतरने की तैयारी के साथ इसे मजबूत करने की योजना बना रखी है. ग्राॉसरी मार्केट पर इसकी नजर है और यही वजह है कि इसने बिग बास्केट का अधिग्रहण किया . बिग बास्केट ऑनलाइन ग्रासरी मार्केट की सबसे बड़ी कंपनियों में से एक है. टाटा समूह ने एक सुपर ऐप लाने की तैयारी की, जिससे इसके  सभी कंज्यूमर बिजनेस शामिल  हैं.