प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को अपने मासिक रेडियो कार्यक्रम ‘मन की बात’ के 75वें संस्करण में देशवासियों को संबोधित किया. पीएम ने कोरोना के बीच होली को लेकर भी सलाह दी है. कोरोना संकट से बचने के लिए उन्होंने कड़ाई और दवाई पर जोर दिया.

बहरहाल, पीएम मोदी ने बताया कि मन की बात के 75वें संस्करण पर लोगों ने बधाई दी है. कार्यक्रम की शुरुआत करते हुए श्रोताओं से पीएम मोदी ने कहा कि मैं आपका बहुत-बहुत धन्यवाद करता हूं कि आपने इतनी बारीक नजर से ‘मन की बात’ को फॉलो किया है और आप जुड़े रहे हैं. ये मेरे लिए बहुत ही गर्व का विषय है, आनंद का विषय है.

पीएम मोदी ने कहा कि मैं आज, इस 75वें संस्करण के समय सबसे पहले ‘मन की बात’ को सफल बनाने के लिए, समृद्ध बनाने के लिए और इससे जुड़े रहने के लिए हर श्रोता का बहुत-बहुत आभार व्यक्त करता हूं.

ताली-थाली की चर्चा

कोरोना संकट के मद्देनजर पीएम मोदी ने पिछले साल उठाए गए कदमों की भी चर्चा की. उन्होंने कहा कि पिछले वर्ष ये मार्च का ही महीना था, देश ने पहली बार जनता कर्फ्यू शब्द सुना था. मगर इस महान देश की महान प्रजा की महाशक्ति का अनुभव देखिये, जनता कर्फ्यू पूरे विश्व के लिए एक अचरज बन गया था. अनुशासन का ये अभूतपूर्व उदाहरण था, आने वाली पीढ़ियां इस एक बात को लेकर के जरूर गर्व करेंगी.

पीएम मोदी ने कहा कि उसी प्रकार से हमारे कोरोना वॉरियर्स के प्रति सम्मान, आदर जताने के लिए लोगों ने थाली, ताली बजाई, दीया जलाया. आपको अंदाजा नहीं है कोरोना वॉरियर्स के दिल को कितना छू गया था वो, और, यही कारण है जो पूरी साल भर, वे बिना थके, बिना रुके, डटे रहे.