सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद रिया चक्रवर्ती ने बताया कि वो डिप्रेशन के शिकार थे। एक चैनल को दिए इंटरव्यू में रिया ने कहा कि सुशांत को क्लॉस्ट्रोफोबिया था। उन्हें फ्लाइट से डर लगता था और घुटन होती थी। फ्लाइट में चढ़ने से पहले सुशांत एक दवा भी खाते थे। रिया के बयान के बाद सुशांत का एक पुराना इंटरव्यू सामने आया है जिसमें वो खुद इसे कबूल कर रहे हैं।

एक नवंबर 2015 में सुशांत ने एक चैनल को दिए इंटरव्यू में अपने इस डर के बारे में बात की थी। उन्होंने कहा था कि उन्हें क्लॉस्ट्रोफोबिया है। सुशांत कहते हैं कि ‘मुझे क्लॉस्ट्रोफोबिया है। यह झूठ है कि मैं एक दिन में छह घंटे सोता हूं। मुझे इन्सोमनिया है जिसकी वजह से मैं दो घंटे से ज्यादा नहीं सो पाता हूं।’

सुशांत ने माना कि उन्हें ऊंचाई से डर लगता है। हालांकि रिया के बयान के बाद सुशांत की एक्स गर्लफ्रेंड अंकिता लोखंडे ने इससे इनकार किया था। अंकिता ने एक वीडियो साझा किया जिसमें सुशांत कॉकपिट में बैठे हैं और कमान संभालते नजर आ रहे हैं। अंकिता ने लिखा, ‘सपना है। क्या ये क्लॉस्ट्रोफोबिया है? तुम हमेशा उड़ना चाहते थे और वो तुमने किया।’

बता दें कि रिया ने उस मनोवैज्ञानिक का नाम भी बताया जिससे सुशांत सिंह राजपूत का इलाज चल रहा था। केसरी चावड़ा नाम के मनोवैज्ञानिक सुशांत का इलाज कर रहे थे।। रिया चक्रवर्ती के इंटरव्यू के बाद मीडिया ने केसरी चावड़ा से बात की और सुशांत सिंह राजपूत के स्वास्थ्य के बारे में सवाल किए। केसरी चावड़ा ने बताया कि सुशांत सिंह राजपूत डिप्रेशन से जूझ रहे थे।

रिपोर्ट्स के अनुसार केसरी चावड़ा ने कहा, ‘सुशांत सिंह राजपूत ने दवाइयां लेनी बंद कर दी थीं। उन्हें पैनिक अटैक आया था। वह डिप्रेशन और तनाव से जूझ रहे थे। इस सिलसिले में श्रुति मोदी ने मुझे पिछले साल 25 नवंबर को कॉल किया था और सुशांत से मिलने के लिए वॉटर स्टोन होटल बुलाया था। इसके बाद 27 नवंबर को सुशांत को हिंदुजा अस्तपाल में भर्ती करवाया गया था’