• विषय विशेषज्ञों ने डिजाइन किया सिलेबस, कल बोर्ड ऑफ स्टडी में मिलेगी स्वीकृति
  • नए कोर्स में एडमिशन के लिए 5 से मिलेगा ऑनलाइन फाॅर्मयोग एक ऐसा विज्ञान है, जिसके प्रति वैश्विक स्तर पर लगातार आकर्षण बढ़ रहा है। गुरुकुल और आश्रम से निकलकर योग अब एयर कंडीशंड क्लास रूम तक पहुंच गया है। इसी कड़ी में रांची यूनिवर्सिटी प्रशासन यूजी लेवल पर योग की पढ़ाई शुरू करने का निर्णय लिया है। इसका नाम बीएससी इन योगिक साइंस दिया गया है। तीन वर्षीय डिग्री कोर्स में इसी सेशन (2020-23) से एडमिशन होगा। इधर, प्रोवीसी डॉ. कामिनी कुमार की अध्यक्षता वाली विषय विशेषज्ञों की कमेटी यूजी लेवल योग का सिलेबस डिजाइन कर लिया है।

    योग की पढ़ाई करने वाले स्टूडेंट्स को तीन वर्ष में 48 पेपर की परीक्षा देनी होगी। इसमें 30 पेपर थ्योरी और 18 पेपर प्रैक्टिकल शामिल है। चार अगस्त को बोर्ड ऑफ स्टडीज सह सिलेबस कमेटी की बैठक होगी, जिसमें ड्राफ्ट सिलेबस को स्वीकृति प्रदान कर दी जाएगी। योग के असिस्टेंट कोऑर्डिनेटर डॉ. आनंद ठाकुर ने बताया कि यूनिवर्सिटी ग्रांट कमीशन (यूजीसी) के मानक के अनुसार सिलेबस तैयार किया गया है।

    शुल्क और सीट पर निर्णय कल लिया जाएगा
    तीन वर्षीय योग कोर्स के शुल्क और एडमिशन सीट पर मंगलवार को होने वाली सिलेबस कमेटी की बैठक में निर्णय होगा। एडमिशन फाॅर्म की कीमत पर इसी बैठक में सहमति बन जाएगी। योग कोर्स में सामान्य अभ्यर्थियों से प्रति सेमेस्टर 12 हजार रुपए शुल्क लिए जाने की संभावना है।

    इंटर पास छात्रों का दाखिला
    यूजी स्तरीय योग में इंटर किसी भी स्ट्रीम (साइंस, कला और कॉमर्स) पास स्टूडेंट्स एडमिशन ले सकेंगे। लेकिन, इंटर में 45 प्रतिशत अंक होना जरूरी है। स्नातक स्तर पर योग की पढ़ाई शुरू होने से अब एक ही छत के नीचे यूजी से लेकर पीजी तक योग की पढ़ाई होगी। इसे स्कूल ऑफ योगिक साइंस के नाम से जाना जाएगा।

    अभी पीजी, डिप्लोमा व सर्टिफिकेट की पढ़ाई
    आरयू में अभी पीजी स्तर के तीन कोर्स की पढ़ाई हो रही है। इसमें योग में पीजी, डिप्लोमा और सर्टिफिकेट कोर्स है। पीजी सिलेबस में हिस्ट्री ऑफ योगा, आसन, प्राणायाम, मुद्रा और बंध के अलावा बॉडी स्ट्रक्चर, क्रिया विज्ञान, हाथ योगा, पतंजलि योगा, हेल्दी लिविंग, डाइट योगा ट्रीटमेंट, साइंटिफिक स्टडी ऑफ योगासन और योगा एंड मेंटल हेल्थ की पढ़ाई होती है।

    अब आगे क्या… यूजी योग की पढ़ाई शुरू कर सकेंगे
    सिलेबस को बोर्ड ऑफ स्टडीज की मुहर लग जाने के बाद रांची यूनिवर्सिटी की एकेडमिक काउंसिल में स्वीकृति के लिए रखा जाएगा। स्वीकृति मिलते ही पढ़ाई शुरू करने का मार्ग प्रशस्त हो जाएगा। बताते चलें कि एकेडमिक काउंसिल में स्वीकृति मिल जाने के बाद आरयू के कोई भी कॉलेज यूजी योग की पढ़ाई शुरू कर सकेंगे।

    पूरे सिलेबस का बुक बनाकर प्रकाशित होगा
    रांची विवि में डिमांड को देखते हुए स्नातक स्तर पर योग की पढ़ाई शुरू करने का निर्णय लिया है। इसमें पेपर वाइज बुक का डिजाइन कर प्रकाशित किया जाएगा, ताकि छात्रों को अधिक पुस्तक क्रय नहीं करना पड़े। – डॉ. रमेश कुमार पांडेय, वीसी आरयू