दिल्‍ली की अरविंद केजरीवाल सरकार (Arvind Kejriwal Government) ने सरकारी जमीन पर बने निजी अस्पतालों से पूछा है कि उन्होंने ईडब्ल्यूएस कोटा (EWS Quota) के तहत कितने कोरोना और कितने गैर कोरोना मरीजों का इलाज किया है.नई दिल्‍ली. दिल्ली की सरकारी जमीन पर बने निजी अस्पतालों को लेकर अरविंद केजरीवाल सरकार (Arvind Kejriwal Government) सख्‍त नजर आ रही है. सरकार ने सरकारी जमीन पर बने निजी अस्पतालों से पूछा है कि उन्होंने ईडब्ल्यूएस कोटा (EWS Quota) के तहत कितने कोरोना और कितने गैर कोरोना मरीजों का इलाज किया है. दिल्ली सरकार ने ज़्यादातर अस्पतालों से इस बात की भी रिपोर्ट मांगी है. जी हां, अस्पतालों से 3 दिन के अंदर जवाब मांगा गया है. यही नहीं, जो अस्पताल इन 3 दिनों के भीतर जवाब नहीं देगा उसके बारे में माना जाएगा कि वह डिफॉल्टर है और उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

दिल्ली सरकार के मुताबिक यह अस्पताल 50 बेड से ज़्यादा की क्षमता वाले हैं और इनको जमीन रियायती दरों पर दी गई थी, इसलिए इनको ईडब्‍ल्‍यूएस (EWS) कोटा (10% बेड) रखना होता है. दिल्ली सरकार ने कोरोना के इलाज के लिए घोषित अस्पतालों में आर्थिक रूप से गरीब मरीजों के लिए कोटा के तहत बेड की संख्या घोषित की है. यही नहीं, दिल्‍ली के कुल 56 अस्पतालों को उनके यहां निर्धारित पेड कोरोना बेड और ईडब्‍ल्‍यूएस कोरोना बेड्स बताए गए हैं.

टॉप 10 अस्‍पताल का हाल

1. मैक्स साकेत के यहां कुल 200 कोरोना बेड हैं, जिनमे से 20 ईडब्ल्यूएस के लिए होंगे.

2. सर गंगा राम अस्पताल में कुल 508 कोरोना बेड हैं, जिसमें से 51 ईडब्ल्यूएस के लिए होंगे.

3. मूलचंद अस्पताल में कुल 140 कोरोना बेड हैं, जिसमें से 14 ईडब्ल्यूएस के लिए होंगे.

4. महा दुर्गा चैरिटेबल ट्रस्ट में कुल 100 कोरोना बेड हैं, जिसमें से 10 ईडब्ल्यूएस के लिए होंगे.

5. सरोज हॉस्पिटल एंड हार्ट इंस्टीट्यूट में कुल 154 कोरोना बेड हैं, जिसमें से 15 ईडब्ल्यूएस के लिए होंगे.

6. बत्रा हॉस्पिटल एंड मेडिकल रिसर्च सेंटर में कुल 99 कोरोना बेड में से 10ईडब्ल्यूएस के लिए होंगे.

7. मैक्स पटपड़गंज अस्पताल में कुल 80 कोरोना बेड हैं, जिमें से 8 ईडब्ल्यूएस के लिए हैं.

8. डॉ. बीएल कपूर मेमोरियल हॉस्पिटल में कुल 93 कोरोना बेड में से 9 ईडब्ल्यूएस के लिए हैं.

10. सेंट स्टीफन हॉस्पिटल में कुल 135 कोरोना बेड में से 14 ईडब्ल्यूएस के लिए होंगे.

दिल्‍ली में कोरोना के मामले 25000 पार

कोरोना का संक्रमण देशभर के साथ ही राजधानी दिल्ली में भी तेजी से अपने पैर पसारता जा रहा है. हर दिन कोरोना के नए मामले मिलने का रिकॉर्ड बनता जा रहा है. वहीं, दिल्ली में गुरुवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 1369 नए मामले सामने आने के साथ ही राष्ट्रीय राजधानी में कोविड-19 से संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 25004 हो गई है. जबकि दिल्ली में कोरोना संक्रमण से अब तक 650 की मौत हो चुकी है, तो फिलहाल राष्ट्रीय राजधानी में कोरोना के 14456 एक्टिव केस हैं.