हाल ही में मेघालय के पश्चिम खासी हिल्स जिमें सॉरोपॉड डायनासोर की हड्डियों के जीवाश्म पाए गए हैं. दावा किया जा रहा है कि ये जीवाश्म करीब 10 करोड़ साल पुराने हैं. हालांकि, अभी ये सिर्फ दावा भर है, एक्सपर्ट्स इसकी सच्चाई पता लगाने मेंजुटे हुए हैं.

भारतीय भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण (जीएसआई) के अनुसंधानकर्ताओं के मुताबिक यह पहली बार है, जब क्षेत्र में पाए गए संभवत: टाइटैनोसॉरियाई मूल के सॉयरोपॉड के अवशेष मिले हैं. गुजरात, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र और तमिलनाडु के बाद मेघालय भारत का पांचवां राज्य है, जहां टाइटैनोसॉरियन मूल के सॉरोपोड की हड्डियां मिली हैं.

इससे पहले 2001 में भी डायनासोर की हड्डियां मिली थीं, मगर उनक स्थिति बहुत खराब थी. इतनी खराब कि पता लगाना मुश्किल था कि ये जीवाश्म कब के थे. उम्मीद है इस बार सच्चाई सामने आएगी.