बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने रविवार को कहा कि देश में पेट्रोल-डीज़ल की बढ़ती क़ीमतों के कारण ज़रूरी वस्तुओं के दाम बढ़े हैं. मायावती ने कहा कि जरूरी वस्तुओं के दाम बढ़ने से आम जनता परेशान है पर न तो राज्य सरकार इस पर ध्यान दे रही है और न ही केंद्र सरकार.

‘जनता परेशान, सरकार को फिक्र नहीं’

मायावती ने ट्वीट कर कहा कि जनता कोरोना वायरस संक्रमण से परेशान है तो वहीं पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों के कारण जरूरी समानों के दाम बढ़े हैं लेकिन न तो इसकी फिक्र केंद्र सरकार को है न राज्य सरकरा को.

बीएसपी सुप्रीमो ने कहा, ”एक तरफ कोरोना प्रकोप से हर प्रकार की जबर्दस्त मार और दूसरी ओर पेट्रोल व डीजल आदि की लगातार बढ़ती हुई कीमत के कारण जरूरी वस्तुओं की महंगाई भी आसमान छू रही है जिसने लोगों का जीवन दुःखी व त्रस्त कर दिया है, फिर भी केंद्र व राज्य सरकारें इस ओर ध्यान नहीं दे रही हैं, अति-दुःखद.”

‘सरकार महंगाई कम करने पर दे ध्यान’

उन्होंने एक अन्य ट्वीट में कहा कि देश के कई राज्यों में पेट्रोल व डीजल की कीमत लगभग 100 रुपये पहुंच जाने से लोगों में आक्रोश की खबर लगातार मीडिया की सुर्खियों में है. ऐसे में बीएसपी यह मांग करती है कि संक्रमण के इलाज संबंधी उपकरणों आदि पर जीएसटी टैक्स को कम करके न्यायोचित बनाने की तरह ही सरकार महंगाई कम करने पर भी ध्यान दें.