बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आज कहा कि राज्य में पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए बहुत काम किये गए हैं। श्री कुमार ने शुक्रवार को यहां नेचर सफारी का लोकार्पण करने के बाद पत्रकारों से बातचीत में कहा कि उन्होंने तय किया था कि राजगीर ऐतिहासिक और प्राकृतिक जगह है यहां पर जू सफारी के साथ ही नेचर सफारी बनाना चाहिए। नेचर सफारी को लेकर योजना बनाई गयी और तीन वर्षों के अंदर इसका निर्माण कार्य पूरा कर लिया गया। नेचर सफारी में दोनों तरफ से सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये गये हैं ताकि लोग सुरक्षित घूम सकें। मुख्यमंत्री ने कहा कि नेचर सफारी में ग्लास स्काई वॉक और सस्पेंशन ब्रिज का भी निर्माण किया गया है। नेचर सफारी आने वाले पर्यटक इन दोनों का आनंद उठा सकते हैं। ग्लास स्काई वॉक इस देश में पहला है। देश दुनिया में इसको लेकर चर्चा हुई है। लोगों को खुशी हुई है कि देश का पहला ग्लास स्काई वॉक बिहार के राजगीर में बना है। नेचर सफारी में लोगों के लिये सभी तरह की सुविधा के इंतजाम किये गये हैं। श्री कुमार ने कहा कि बिहार में पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए बहुत काम किये गये हैं। बिहार आने वाले पर्यटकों की संख्या में काफी इजाफा हो रहा है। पूरे देश से दो करोड़ से भी ज्यादा पर्यटक बिहार में आते हैं। इसके अलावा विदेश से भी 10 लाख से ज्यादा पर्यटक बिहार आते हैं, जिनमें सबसे ज्यादा राजगीर, गया, बोधगया और वैशाली आते हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना के मामले फिर से बढ़ रहे हैं। इससे हम सबको सतर्क और सचेत रहने की जरुरत है। कोरोना से मुक्ति मिलने के बाद पर्यटकों की संख्या और ज्यादा बढ़ेगी।