नव वर्ष को लेकर देश खूब उत्साहित है. हालांकि कोरोना वायरस के प्रकोप और उसके नए स्वरूप के मामले सामने आने के बाद केन्द्र सरकार और राज्य सरकार अपने स्तर पर नए वर्ष के आयोजनों को लेकर सख्ती बरती जा रही है। राजधानी दिल्ली समेत देश के अन्य़ राज्यों में नाइट कर्फ्यू लगाने का ऐलान किया गया है. 31 दिसंबर और 1 जनवरी को रात 11 बजे से सुबह 6 बजे तक नाइट कर्फ्यू रहेगा.

DDMA ने यह फैसला कोरोना वायरस को देखते हुए नए साल के जश्न को लेकर होने वाली भीड़ के कारण यह आर्डर जारी किया है. इस दौरान पब्लिक प्लेस पर 5 लोगों से ज्यादा भीड़ इकठ्ठी नहीं हो सकती. नए साल के किसी भी जश्न और सेलिब्रेशन या प्रोग्राम की पब्लिक प्लेस पर इजाजत नहीं होगी. लाइसेंसी प्लेस, पब्लिक प्लेस के दायरे में नही आएंगे.

दिल्ली के चीफ सेक्रेटर का कहना है की दिल्‍ली के हालात की विस्‍तृत समीक्षा की गई है और कोविड-19 वायरस के म्‍यूटेंट यूके स्‍ट्रेन के खतरे को देखते हुए और दिल्‍ली में कोविड के स्‍थानीय मामलों को ध्‍यान में रखते हुए, यह समझा जाता है कि भीड़भाड़, समारोह और नए साल पर सार्वजनिक उत्‍सव से वायरस फैलने का भारी खतरा है। इससे दिल्‍ली में कोविड-19 मामलों के ट्रांसमिशन की चेन रोकने के अबतक के प्रयासों पर पानी फिर सकता है। हालांकि पब्लिक प्‍लेसेज में वे जगहें शामिल नहीं होंगी जिनके पास लाइसेंस है।हालकीं कर्फ्यू के दौरान लोगों और माल की इंटरस्‍टेट और इंट्रास्‍टेट आवाजाही पर कोई रोक नहीं होगी। इसका मतलब कि आप बाहर निकल सकेंगे लेकिन 5 से ज्‍यादा लोग एक साथ नहीं। वहीं दिल्‍ली के अलावा, पंजाब, महाराष्‍ट्र, कर्नाटक और राजस्‍थान ने भी नाइट कर्फ्यू लगाया है।