दिल्ली (Delhi) के द्वारका (Dwarka) इलाके में एक चलती बस में एक व्यक्ति ने दिल्ली पुलिस (Delhi Police) में तैनात 25 वर्षीय महिला पुलिस कांस्टेबल (Female Police Constable) के साथ कथित तौर पर उत्पीड़न और हमला (Attack) कर दिया। पुलिस अधिकारियों (Police Officers) ने जानकारी (Information) देते हुए कहा कि घटना बुधवार दोपहर की है जब पीसीआर (PCR) इकाई में तैनात कांस्टेबल (Constable) ड्यूटी पर जा रही था। दिल्ली डीटीसी (Delhi DTC Bus) में महिला कांस्टेबल (Female Police Constable) से छेड़छाड़ के समय मार्शल या ड्राइवर की मदद नहीं करने पर सवाल उठ रहे है.

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा कि आरोपी कांस्टेबल के साथ क्लस्टर बस में चढ़ा और उसके पीछे खड़ा हो गया। फिर उसने उसे गलत तरीके से छुआ। जब महिला कांस्टेबल ने इस पर आपत्ति जताई तो उसने उस पर हेलमेट से हमला कर दिया। पुलिस ने कहा कि हमले में कांस्टेबल घायल हो गई, जबकि आरोपी बस से कूदकर फरार हो गया। कांस्टेबल को दीन दयाल उपाध्याय अस्पताल ले जाया गया। इस मामले में महिला कांस्टेबल से छेड़छाड़ करने का मामला दर्ज किया गया है। फिलहाल उनकी सेहत स्थिर है।

उन्होंने कहा कि कांस्टेबल की मदद के लिए कोई महिला या पुरुष आगे नही आया। यहां तक ​​कि बस चालक और मार्शलों ने भी मदद नहीं की। ड्राइवर का कहना है कि घटना बस के बाहर की है। आपको बता दें कि दिल्ली में महिलाओं की सुरक्षा के लिए सरकार के तमाम दावों के बावजूद अपराध की घटनाएं रुक नहीं रही हैं। दिल्ली सरकार ने महिलाओं के खिलाफ अपराध को रोकने के लिए केवल बसों में मार्शल तैनात करने का फैसला किया था। हालांकि, इस व्यवस्था को लेकर सवाल उठ रहे हैं कि क्या दिल्ली पुलिस के सिपाही से छेड़छाड़ की घटना के समय भी मार्शल या ड्राइवर मदद नहीं करते हैं। द्वारका के पुलिस उपायुक्त संतोष कुमार मीणा ने कहा, “एक मामला दर्ज किया गया है।आरोपियों को पकड़ने के लिए प्रयास जारी है।