दिल्ली, लाइफस्टाइल डेस्क। मोटापा एक आनुवांशिकी रोग है। साथ ही गलत खानपान, खराब दिनचर्या और तनाव की वजह से भी वजन तेजी से बढ़ने लगता है। खासकर कोरोना वायरस माहमारी के दौरान इसकी शिकायत और बढ़ गई हैं। इसके लिए लोग तरह-तरह के जतन करते हैं। वर्कआउट करते हैं, डाइट पर रहते हैं, कीटो डाइट लेते हैं और खानपान में भी बड़ा बदलाव करते हैं। इसके बावजूद कुछ लोगों को बढ़ते वजन से निजात नहीं मिल पाता है।

विशेषज्ञों की मानें तो बढ़ते वजन को कम करने के लिए सबसे पहले अनुशासित होना जरूरी है। अक्सर ऐसा देखा जाता है कि लोग एक दिन परहेज कर लेते हैं, लेकिन अगले दिन खाने पर टूट पड़ते हैं। इसके लिए जरूरी है कि आप खानपान के साथ-साथ नियमित वर्कआउट जरूर करें। जबकि डॉक्टर कुछ लोगों को ‘वॉटर फास्टिंग’ की भी सलाह देते हैं। ऐसा माना जाता है कि इस फास्टिंग को करने से वजन बड़ी तेजी से घटने लगता है। अगर आपको ‘वॉटर फास्टिंग’ के बारे में नहीं पता है, तो आइए जानते हैं-

वॉटर फास्टिंग’ क्या है

यह फास्टिंग का एक ही प्रकार है, जिसमें पानी पीने की इजाजत होती है। इसके आलावा आप कुछ खा और पी नहीं सकते हैं। आपको भूखे रहना होता है। इस उपवास को करने से पहले डॉक्टर की जरूर सलाह लें। जबकि इस उपवास को शुरू करने के बाद जारी रखने के लिए भी डॉक्टर से परामर्श जरूरी है। विशेषज्ञों की मानें तो ‘वॉटर फास्टिंग’ 24 से 72 घंटे तक की जाती है। हालांकि, ‘वॉटर फास्टिंग’ को लेकर विशेषज्ञों में मतभेद है। कुछ जानकारों का कहना है कि इससे सेहत पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है। इससे कई अन्य बीमारियां का खतरा बढ़ जाता है। जबकि कुछ जानकारों का कहना है कि इसे अनुशासित होकर सीमित समय के लिए कर सकते हैं।

कैसे ‘वॉटर फास्टिंग’ वजन कम करती है

जब आप डाइट नहीं लेते हैं, तो पाचन तंत्र काम करना बंद कर देता है। इसके बाद शरीर को शक्ति की जरूरत होती है। इस काम को पूरा शरीर में मौजूद फैट करता है। साथ ही पानी शरीर में मौजूद विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालता है। इसके साथ ही रोजाना एक्सरसाइज जरूर करें। अगर आप अनुशासित होकर फास्टिंग और एक्सरसाइज करते हैं, तो आपको जल्द ही असर देखने को मिल सकता है।

डिस्क्लेमर: स्टोरी के टिप्स और सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन्हें किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर नहीं लें। बीमारी या संक्रमण के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।