कोविड-19 टीकाकरण अभियान से अब सभी महिला स्वयं सहायता समूह को जोड़ने के लिए जिलाधिकारी श्रीमती सौम्या अग्रवाल ने सभी बीडीओ को निर्देशित किया है। विकास भवन में आयोजित समीक्षा बैठक में उन्होने कहा कि समूह की सदस्य महिलाए स्वयं भी टीका लगवाये तथा अपने परिवार के पात्र लोगों को टीकाकरण कराये। समीक्षा में उन्होने पाया कि जिले में लगभग 10000 स्वयं सहायता समूह सक्रिय है, जिसके लगभग सवा लाख सदस्य है। इनके परिवार के सदस्यों को जोड़ने पर यह संख्या डेढ लाख के उपर हो जाती है। उन्होने सभी बीडीओ को निर्देशित किया कि सभी का टीकाकरण कराना सुनिश्चित करें।

उन्होने निर्देश दिया है कि टीकाकरण के लिए उप जिलाधिकारी, बीडीओ तथा प्रभारी चिकित्साधिकारी प्रभावी रणनीति तैयार करें। अबतक 140 गाॅव के ग्राम प्रधानों को शतप्रतिशत टीकाकरण कराने के लिए संकल्प दिलाया गया था। अब प्रत्येक ब्लाक में इस प्रकार के दो-दो गाॅव चयनित किए जायेंगे। इसलिए 30 मई को 28 ग्राम प्रधानों को संकल्प दिलाया गया है।

सर्वाधिक टीका लगवाने वाले ग्राम प्रधानों को सम्मानित भी किया गया है। यह व्यवस्था आगे भी लागू रहेंगी। उन्होने कहा कि कोरोना कफ्र्यू के कारण बच्चों का टीकाकरण नही हो पा रहा था। अब पूर्व की भाॅति प्रत्येक बुद्धवार एंव शनिवार को एएनएम बच्चों का नियमित टीकाकरण करेंगी। आशा एंव आगनबाडी कार्यकत्री ऐसे लाभार्थियों को प्रेरित करके टीकाकरण केन्द्र पर भेजेंगी।
कोविड-19 की सैम्पलिंग की समीक्षा करते हुए उन्होने निर्देश दिया कि यदि कम उम्र में भी कोरोना के लक्षण पाये जाते है तो उनकी सैम्पलिंग कराकर जाॅच करा ली जाय। बस्ती सदर तथा रूधौली में आरआरटी टीम द्वारा होमआईसोलेशन में रह रहे मरीजो को पहली बार विजिट करने के बाद डाटा पोर्टल पर अपलोड न किए जाने पर उन्होने असंतोष व्यक्त किया। उन्होने कहा कि सैम्पलिंग एकत्र कर जाॅच हेतु जिला अस्पताल उपलब्ध कराने तथा कैली अस्पताल तक इसे भेजवाने में विशेष सावधानी बरते।

सीडीओ डाॅ0 राजेश कुमार प्रजापति ने कहा कि बीडीओ द्वारा टीकाकरण कार्य में रूचि नही ली जा रही है। लापरवाही पाये जाने पर कार्यवाही प्रस्तावित की जायेंगी। उन्होने रामनगर की बीडीओ को विशेष रूप से चेताया कि वे प्रतिदिन कम से कम 50 लोगों का टीकाकरण कराना सुनिश्चित करें। सभी बीडीओ टीम बनाकर गाॅव में जाये तथा लोगों को टीकाकरण के लिए प्रेरित करें।

बैठक में एडीएम अभय कुमार मिश्र, सीएमओ डाॅ0 अनूप कुमार, डाॅ0 आलोक कुमार, डाॅ0 फखरेयार हुसैन, डाॅ0 सीके वर्मा, डाॅ0 सोमेश श्रीवास्तव, सभी उप जिलाधिकारी, खण्ड विकास अधिकारी, प्रभारी चिकित्साधिकारी तथा विभागीय अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित रहें।