जिले में कोरोना संक्रमण अब बेकाबू हो चला है और जिस तेजी से संक्रमितों की संख्या बढ़ रही है उसी तेजी से सक्रिय मरीजों का आंकड़ा भी बढ़ने लगा है। अब तो रोजाना एक दिन में आने वाले नए मरीजों का रिकॉर्ड टूट रहा है। इसी क्रम में रविवार को भी एक दिन में वर्ष के सर्वाधिक 324 नए मरीज आए जबकि महज 120 संक्रमितों को स्वस्थ घोषित किया गया। इसी के साथ अब जिले में कोरोना के कुल सक्रिय मरीजों की संख्या बढ़कर 1720 हो गई है।

इसमें से 1595 संक्रमित होम आइसोलेट हैं जबकि 125 अस्पतालों में उपचाराधीन हैं। कोरोना के आंकड़ों पर गौर करें तो महज तीन सप्ताह में ही सक्रिय मरीजों की संख्या तीन गुना से ज्यादा बढ़ गई है। इसी के साथ जिले में कोरोना मरीजों की कुल संख्या बढ़कर 62 हजार 226 पर पहुंच चुकी है, जिसमें से 60 हजार 212 संक्रमित स्वस्थ हो चुके हैं। मालूम हो कि कोरोना संक्रमण की रफ्तार को देखते हुए जिला प्रशासन ने निजी अस्पतालों में फिर से 35 फीसदी बेड कोरोना मरीजों के लिए आरक्षित कर दिया है। स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों पर गौर करें तो पता चलता है कि इलाज के लिए मरीजों की पहली पसंद निजी अस्पताल ही हैं, जिसके चलते निजी अस्पतालों में भी संक्रमितों की संख्या बढ़ती जा रही है।

कोविड मरीजों की संख्या भले ही बढ़ गई हो लेकिन स्वास्थ्य विभाग द्वारा कराई जा रही कोविड जांच की रफ्तार अब भी सुस्त गति से बढ़ रही है। कभी एक दिन में 5 हजार लोगों की जांच हो जाती है तो किसी दिन जांच की संख्या उससे कम ही रहती है। इसी क्रम में रविवार को जिले में 4583 लोगों की कोविड जांच की गई, जिसमें से 4239 की आरटी-पीसीआर व 344 लोगों की रैपिड एंटीजन किट के जरिए जांच की गई। इसी के साथ जिले में कोरोना जांच की संख्या अब बढ़कर 9 लाख 25 हजार 138 तक पहुंच चुकी है, जिसमें से 62296 लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई है।