आपकी उम्र कितनी है, यही बात तय करती है कि यह नैचरल ड्रिंक आपके शरीर पर कैसा असर करेगी…

ये तो बच्चों की चीज है! अक्सर हमारे टीनेजर्स और युवा यही कहकर प्राकृतिक और सेहमंद ड्रिंक पीने से मना करते हैं। हालांकि ये बात और है कि दूध हर आयुवर्ग के लोगों के लिए जरूरी है। क्योंकि बचपन में यह हड्डियों को मजबूत बनाने का काम करता है तो बड़े होने पर ब्रेन में हॉर्मोनल बैलंस बनाए रखने में सहायक है। आइए, जानते हैं दूध से जुड़ी कुछ रोचक बातें…

-आपको शायद पता हो लेकिन दूध एक स्ट्रेस बस्टर ड्रिंक की तरह काम करती है। वह भी सौ प्रतिशत गारंटी के साथ। जो लोग नियमित रूप से दूध का सेवन करते हैं, उन पर तनाव हावी नहीं हो पाता है।

-अब आप ही बताइए कि अगर दूध सिर्फ बच्चों के पीने की चीज होता तो तनाव पर इतना प्रभावी कैसे होता! क्योंकि तनाव तो बच्चों को नहीं होता…वे तो मस्त रहते हैं और व्यस्त रहते हैं!

-रात को सोने से एक घंटा पहले यदि गुनगुना दूध पिया जाए तो यह गहरी और अच्छी नींद लाने में सहायक होता है। क्योंकि दूध पीने के बाद हमारे ब्रेन में डोपामाइन हॉर्मोन बढ़ जाता है। यह हमारे दिमाग की नसों को शांत कर लाइट फील कराता है।

दूध के बारे में अगर कोई आपसे पूछे कि दूध क्या है? तो दूध सिर्फ पानी की तरह एक तरल पदार्थ ही तो है। लेकिन इसमें जो विटमिन्स, प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेट्स होते हैं, वे हमारी हड्डियों को पोषण देने और त्वचा को स्मूद बनाए रखने में सहायक होते हैं।

-पोषण के मामले में गाय का दूध सबसे अधिक लाभकारी होता है। खासतौर पर मेंटल हेल्थ के लिए। गाय के दूध में फैट कम होता है इसलिए इसे पीने पर मोटापे का डर भी नहीं सताता है।

-यदि आपको गाय का शुद्ध दूध ना मिल पाए तो आप इसके स्थान पर सोया मिल्क का सेवन भी कर सकते हैं। क्योंकि इस दूध में भी गाय के दूध की तरह कम कैलरी और फैट कम होता है। साथ ही कम सोडियम इसे पर्फेक्ट ड्रिंक बनाता है।