लॉकडाउन के दौरान सोनू सूद सैकड़ों प्रवासी मजदूरों और जरूरतमंदों के लिए मसीहा बनकर उभरे हैं। सोनू अभी भी लोगों की मदद करने में जुटे हैं। जो लोग अपने गांव पहुंचे गए हैं लेकिन उनके पास गुजारा करने के लिए काम धंधा नहीं है, अब सोनू उन्हें मदद पहुंचाने की कोशिश कर रहे हैं। इस बीच ट्विटर पर उनके नाम से धोखाधड़ी का सिलसिला भी चल पड़ा है। जिसे देखकर सोनू सूद भड़क उठे।

सोनू सूद के नाम से फर्जी अकाउंट ट्विटर पर सक्रिय हैं जो जरूरतमंदों को अपने झांसे में लेने की कोशिश करते हैं। दरअसल असम के रहने वाले एक शख्स ने सोनू सूद से मदद की गुहार लगाई। जिसके बाद फर्जी अकाउंट वाले ने शख्स से उसका डिटेल भेजने के लिए कहा। उसने सोनू सूद के नाम से दो जीमेल अकाउंट भी बना रखे हैं।

ट्वीट देखने के बाद सोनू सूद ने उसे चेतावनी देते हुए कहा कि ‘मासूम लोगों से धोखाधड़ी करने के आरोप में तुम जल्दी ही गिरफ्तार होगे। इसलिए जल्द ही यह धोखाधड़ी वाला बिजनेस बंद करो, इससे पहले बहुत देर हो जाए।

ऐसा पहली बार नहीं है जब सोनू सूद के नाम पर इस तरह की हरकतें हुई हैं। पहले भी ऐसे कई मामले सामने आए। जिसके बाद सोनू सूद को सामने आना पड़ा और अपने सभी प्रशंसकों को सतर्क रहने के लिए कहा जिससे वो इस धोखे का शिकार ना हो जाएं।
सोनू सूद ने एक ट्वीट कर कहा था- ‘दोस्तों, हम श्रमिकों के लिए जो भी सेवा कर रहे हैं वो बिल्कुल निःशुल्क है। अगर आपसे कोई भी व्यक्ति मेरे नाम पर पैसे मांग रहा है तो उसे तुरंत मना कर दीजिए। हमें या करीबी पुलिस थाने में इसकी रिपोर्ट कीजिए।’