रांची : झारखंड में लगातार दूसरे दिन नये मिले कोरोना संक्रमितों के मुकाबले स्वस्थ होनेवालों की संख्या ज्यादा रही. शुक्रवार को पूरे राज्य से 618 नये संक्रमित मिले हैं, इसके मुकाबले रिकार्ड 809 संक्रमित स्वस्थ हो कर घर लौटे. उधर, शुक्रवार को ही छह कोरोना संक्रमितों की मौत हो गयी. इनमें धनबाद, पू सिंहभूम, पलामू व रामगढ़ से एक-एक और हजारीबाग से दो संक्रमित शामिल हैं. इसके साथ ही राज्य में कोरोना से मरनेवालों का आधिकारिक आंकड़ा 151 हो गया है. झारखंड राज्य महिला आयोग के पूर्व अध्यक्ष व झामुमो नेता महुआ माजी भी कोरोना संक्रमित पायी गयी हैं.

राज्य में अब तक कुल 16482 कोरोना संक्रमित मिल चुके हैं. इनमें से 7491 स्वस्थ हो चुके हैं. इस तरह राज्य में कोरोना के कुल एक्टिव केस 8840 हो गये हैं. स्वास्थ्य विभाग के अनुसार शुक्रवार को रांची से 160, गिरिडीह से 109, धनबाद से 59, पू सिंहभूम से 56, हजारीबाग से 53, बोकारो से 26, रामगढ़ से 24, चतरा से 23, साहिबगंज से 19, सरायकेला से 16, देवघर से 15, लोहरदगा से 12, खूंटी से 10, सिमडेगा से आठ, गढ़वा से पांच, प सिंहभूम से पांच, कोडरमा से पांच, गुमला से चार, पलामू से चार, गोड्डा से तीन और लातेहार से दो संक्रमित मिले हैं.

कहां से कितने स्वस्थ हुए : शुक्रवार को रांची से 369, लातेहार से 112, गिरिडीह से 48, साहिबगंज से 38, धनबाद से 38, कोडरमा से 36, हजारीबाग से 34, गुमला से 28, पाकुड़ से 26, सिमडेगा से 20, गोड्डा से 15, प सिंहभूम से 12, चतरा से नौ, खूंटी से छह, सरायकेला से छह, देवघर से तीन, जामताड़ा से दो और रामगढ़ से एक संक्रमित स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हो गये.

रांची में 48 पुलिसकर्मी संक्रमित : रांची में मिले 160 संक्रमितों में 48 पुलिसकर्मी हैं. इनमें आइआरबी-2 के 30 जवान, बरियातू थाना के सात पुलिसकर्मी और सुखदेव नगर थाना के एक पुलिसकर्मी शामिल हैं. वहीं सीआइडी में एक डीएसपी समेत 10 पुलिसकर्मी संक्रमित हुए हैं. होटवार जेल में फिर संक्रमित मिले हैं. रांची सिविल कोर्ट से भी संक्रमित मिले हैं. इसके अलावा रातू रोड, कोकर, धुर्वा और बरियातू से भी नये संक्रमित पाये गये हैं.

9441 सैंपल की हुई जांच, बैकलॉग में 9299 सैंपल : शुक्रवार को 6541 नये सैंपल लिये गये और 9441 सैंपलों की जांच हुई है. राज्य में अबतक 377056 सैंपल लिये गये हैं. इनमें से 367757 सैंपलों की जांच हुई है. इस समय 9299 सैंपल बैकलॉग में हैं.

5.99 प्रतिशत मरीज मिले रहे हैं : राज्य में पिछले सात दिनों से 5.99 प्रतिशत की दर से संक्रमित मिले हैं. यानी जितने सैंपल की जांच हो रही है, उसमें लगभग छह लोग संक्रमित मिल रहे हैं. लगभग 12 दिनों में मरीजों की संख्या दोगुनी हो जा रही है. रिकवरी रेट में सुधार हुआ है. इस समय रिकवरी रेट 45.44 प्रतिशत हो गया है.

रिपोर्ट में देर न हो, इससे संक्रमण फैलने की आशंका : हाइकोर्ट – झारखंड हाइकोर्ट ने शुक्रवार को कोरोना के बढ़ते संक्रमण पर स्वत: संज्ञान के तहत दर्ज जनहित याचिकाअों की सुनवाई की. हाइकोर्ट ने राज्य सरकार को विस्तृत रिपोर्ट देने का निर्देश दिया. चीफ जस्टिस डॉ रवि रंजन व जस्टिस सुजीत नारायण प्रसाद की खंडपीठ ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से सुनवाई करते हुए यह माना कि कोरोना की जांच रिपोर्ट देने में जितनी देर होगी, संक्रमण फैलने की आशंका बनी रहेगी.

खंडपीठ ने माैखिक रूप से कहा कि सरकार को कोरोना जांच की रफ्तार तेज करनी चाहिए. यह सुनिश्चित किया जाना चाहिए कि उसकी रिपोर्ट समय पर मिले. कम से कम समय में िरपोर्ट देने की व्यवस्था होनी चाहिए. खंडपीठ ने महाधिवक्ता राजीव रंजन से जानना चाहा कि सैंपल लेने के बाद उसकी रिपोर्ट देने में विलंब क्यों होता है? संबंधित व्यक्ति को विलंब से रिपोर्ट मिलने के कारण जब तक उन्हें पॉजिटिव होने की जानकारी होती है, तब तक वह कई लोगों तक संक्रमण फैला सकते हैं.

हड़ताल खत्म, काम पर लौटे अनुबंधित स्वास्थ्यकर्मी – राज्य सरकार की ओर से मांगों पर गंभीरता पूर्वक विचार किये जाने के आश्वासन मिलने के बाद अनुबंधित पारामेडिकल कर्मियों ने अपनी हड़ताल वापस ले ली है. ये लोग पांच अगस्त से ही हड़ताल पर थे. शुक्रवार देर शाम झारखंड अनुबंधित पारा चिकित्साकर्मी संघ के अध्यक्ष विनय कुमार ने हड़ताल वापस लेने की घोषणा की. वहीं, झारखंड एएनएम-जीएनएम संघ की महासचिव जूही मिंज ने भी कहा कि कोरोना काल को देखते हुए हड़ताल स्थगित की जाती है.

इससे पहले मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की अध्यक्षता में इन कर्मियों की मांगों के लेकर एक बैठक हुई. इसमें कहा गया कि कोरोना के बाद ही इनकी मांगों पर विचार किया जायेगा. बैठक में स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता, मुख्य सचिव सुखदेव सिंह, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव राजीव अरुण एक्का, स्वास्थ्य सचिव डॉ नितिन कुलकर्णी उपस्थित थे.

देवघर मंदिर पर कमेटी फैसला लेगी : सीएम – मुख्यमंत्री ने कहा है कि देवघर व बासुकीनाथ मंदिर में पूजा के बाबत निर्णय लेने के लिए कमेटी गठित कर दी गयी है. कमेटी इस पर जो निर्णय लेगी उसका पालन होगा. निशिकांत दुबे पर केस के मामले में सीएम ने कहा कि फिलहाल वे इस मुद्दे पर कुछ नहीं बोलेंगे. सीएम ने कहा कि राज्य में कोरोना संक्रमण की बढ़ती गति पर उनकी नजर है. ऐसा लगेगा कि मामला ज्यादा बढ़ रहा है, तो सरकार लोगों की सुरक्षा के लिए हर कदम उठाने को तैयार है. उन्होंने कहा कि राज्य में संक्रमण बढ़ा है, इसमें कोई आश्चर्य की बात नहीं है. ऐसा टेस्टिंग बढ़ने के चलते हो रहा है. लोग तेजी से ठीक भी हो रहे हैं.