छापी आंदोलनकारी महिलाओं की तस्वीर

अमेरिका की प्रतिष्ठित प्रत्रिका टाइम मैगजीन ने अपने ताजा अंक के कवर पेज पर किसान आंदोलन में शामिल महिलाओं को जगह दी है. कवर पेज पर आंदोलनकारी महिलाओं की तस्वीर के आगे लिखा है- भारत के किसान विरोध के मोर्चे पर. बता दें कि 3 नए कृषि कानूनों के विरोध में देश के कई किसान दिल्ली की सीमाओं पर पिछले करीब 4 महीनों से विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं.

मैगजीन ने दिल्ली के टिकरी बॉर्डर पर 20 महिलाओं के एक समुह की तस्वीर छापी है जो किसान आंदोलन में शामिल होने पहुंचे थे. टाइम मैजनीन ने बताया है कि कैसे महीनों से महिलाएं भी विरोध के मोर्चे पर डटी हैं.

आर्टिकल का शीर्षक है- I Cannot Be Intimidated. I Cannot Be Bought यानी हमें धमाकाया नहीं जा सकता, हमें खरीदा नहीं जा सकता. आर्किल में आगे लिखा है कि ज्यादातर महिलाएं पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश के ग्रामीण इलाकों से पहुंची थी.

टाइम मैगजीन ने आगे लिखा है कि ये महिलाएं इस बात से हैरान थीं कि वे दिल्ली के आस पास के विरोध स्थलों पर खाना पकाने और सफाई की सेवाएं देने वाली कार्यकर्ता थीं, न कि आंदोलन में बराबर की हिस्सेदारी रखने वाली.