कोरोना का नया स्वरुप भारत में भी तेजी अपना पैर पसार रहा है। भारत में कोरोना वायरस के नए प्रकार के मरीजों की संख्या में बड़ा इजाफा हुआ है। ब्रिटेन के नए कोरोना वायरस से 14 और संक्रमित मिले हैं, जिससे देश में इसके मरीजों की संख्या 20 पहुंच गई है। ये सभी ब्रिटेन से भारत लौटे हैं। आपको बता दें कि मंगलवार को ब्रिटेन से भारत लौटे छह लोगों के नमूनों में सार्स-सीओवी2 का नया स्वरूप (स्ट्रेन) पाया गया था। कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन के सबसे अधिक मामले दिल्ली में मिले हैं। NCDC दिल्ली लैब में 14 सैंपल में से 8 नए स्ट्रेन से पॉजिटिव पाए गए हैं। वहीं, कोलकता स्थित लैब में कुल संक्रमितों की संख्या 7 पाई गई है। वहीं पुणे के लैब में नए कोरोना वायरस के एक मामले सामने आए हैं। CCMB हैदराबाद में भी कोरोना के नए प्रकार के 2 मामले आज दर्ज किए गए हैं। वहीं, दिल्ली स्थित इंस्टीट्यूट ऑफ जीनोमिक्स एंड इंटीग्रेटिव बायोलॉजी में एक सैंपल पॉजिटिव पाया गया है। कुल मिलाकर देश के 10 लैब में 107 सैंपलों की जांच की गई है और इनमें से 20 कोरोना वायरस के नए प्रकार से पॉजिटिव पाए गए हैं। ये सारे आंकड़े 29 तारीख तक की जांच के हैं।

वहीं स्वास्थ्य मंत्रालय का कहना है कि 25 नवंबर से 23 दिसंबर के बीच ब्रिटेन से 33 हजार लोग वापस भारत लौट हैं। सभी को ट्रैक किया गया और उनका टेस्ट करवाया गया। इनमें से कुल 114 लोग कोरोना पॉजिटिव पा गए हैं। इनकी सैंपल अलग-अलग लैब में भेजे गए। अब तक इस नए स्ट्रेन को लेकर जो बातें सामने आईं हैं, उससे यह स्पष्ट है कि कोविड-19 का यह नया रूप काफी घातक और जानलेवा है। वायरस का यह नया स्वरूप 70 प्रतिशत ज्यादा संक्रामक बताया जा रहा है।